UP Investors Summit 3.0: पीएम मोदी आज 80 हजार करोड़ की निवेश परियोजनाओं की रखेंगे आधारशिला, बढ़ेंगे पांच लाख रोजगार के अवसर

By | June 3, 2022


ख़बर सुनें

यूपी ने कोविड महामारी से जंग के साथ-साथ निवेश का माहौल बनाने की बड़ी पहल की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को तीसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 80 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश वाली 1406 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इन प्रोजेक्ट के धरातल पर उतरने पर प्रदेश में पांच लाख रोजगार के नए अवसर सृजित होने का दावा किया गया है।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में पूर्वाह्न 11 बजे से आयोजित इस कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ देश के शीर्ष उद्योगपतियों केशामिल होने की संभावना है। अदाणी समूह के अध्यक्ष और एमडी गौतम अदाणी, आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला, आईटीसी लिमिटेड के अध्यक्ष और एमडी संजीव पुरी, हीरानंदानी ग्रुप के एमडी निरंजन हीरानंदानी, जिंदल ग्रुप के चेयरमैन और एमडी सज्जन जिंदल, लुलु ग्रुप के एमडी युसूफ  अली व वीपी एयर लिक्विड के मैथ्यू आइरीज सहित तमाम उद्योगपतियों का आना तय माना जा रहा है।

समारोह की तैयारियों पर शासन स्तर से लगातार नजर रखी जा रही है। मुख्यमंत्री योगी व मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा स्वयं तैयारियों को लेकर लगातार अपडेट ले रहे हैं। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अरविंद कुमार समारोह से जुड़े प्रत्येक पहलुओं की लगातार मॉनीटरिंग कर रहे हैं। शासन ने मेहमानों की यादगार मेहमानवाजी को लेकर जबर्दस्त तैयारी की है। शहर को खूबसूरती से सजाया-संवारा गया है और हर प्रतिष्ठित आगंतुक के साथ लाइजन अफसर नामित किए गए हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने सत्ता संभालने के बाद 2018 में इंवेस्टर्स समिट का आयोजन किया था। तब 4.68 लाख करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव आए थे। इन निवेश प्रस्तावों को जमीन पर उतारने के लिए ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के रूप में अभिनव पहल हुई। पहली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 61,792 करोड़ निवेश प्रस्ताव वाली 81 परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ था। दूसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 67,202 करोड़ के निवेश प्रस्ताव वाली 290 परियोजनाओं को जमीन पर उतरने की राह खुली। कोविड महामारी की चुनौती का सामना कर रही सरकार ने बहुप्रतीक्षित तीसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी की तैयारी पूरी कर ली है। इसमें सर्वाधिक 80,224 हजार करोड़ रुपये के निवेश वाली 1406 परियोजनाओं के शिलान्यास की तैयारी है।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के जरिए प्रदेश में डेटा सेंटर से लेकर यूनिवर्सिटी व डेयरी प्लांट तक लगने जा रह रहे हैं। सर्वाधिक 805 एमएसएमई के प्रोजेक्ट स्थापित होंगे। इसके बाद कृषि, फार्मास्यूटिकल्स और मेडिकल सप्लाई, शिक्षा, डेयरी व पशुपालन के प्रोजेक्ट शामिल हैं।

सेक्टर प्रोजेक्ट की संख्या निवेश राशि (करोड़ में)
डेटा सेंटर 7 19928
कृषि व संबंधित 275 11297
आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स 26 7876
इन्फ्रास्ट्रक्चर 13 6632
मैन्युफैक्चरिंग 27 6227
हैंडलूम व टेक्सटाइल्स 46 5642
रिन्युवल एनर्जी  23 4782
एमएसएमई 805 4459
हाउसिंग एंड कामर्शियल 19 4344
हेल्थकेयर 8 2205
डिफेंस-एयरोस्पेस 23 1773
वेयरहाउसिंग-लॉजिस्टिक्स 26 1295
शिक्षा 6 1183
फार्मा-मेडिकल सप्लाई 65 1088
टूरिज्म-हॉस्पिटेलिटी 23 680
डेयरी 7 489
पशुपालन  6 224
फिल्म एंड मीडिया 1 100
निवेश आकार प्रोजेक्ट संख्या  निवेश राशि
500 करोड़ से अधिक 29 40106
200 से 500 करोड़ तक 52 15614
50 से 200 करोड़ तक 112 11271
10 से 50 करोड़ तक 230 5068
10 करोड़ से कम 972 2757
सपोर्टिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट 11 5408

विस्तार

यूपी ने कोविड महामारी से जंग के साथ-साथ निवेश का माहौल बनाने की बड़ी पहल की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को तीसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 80 हजार करोड़ से ज्यादा के निवेश वाली 1406 परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। इन प्रोजेक्ट के धरातल पर उतरने पर प्रदेश में पांच लाख रोजगार के नए अवसर सृजित होने का दावा किया गया है।

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में पूर्वाह्न 11 बजे से आयोजित इस कार्यक्रम में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ देश के शीर्ष उद्योगपतियों केशामिल होने की संभावना है। अदाणी समूह के अध्यक्ष और एमडी गौतम अदाणी, आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला, आईटीसी लिमिटेड के अध्यक्ष और एमडी संजीव पुरी, हीरानंदानी ग्रुप के एमडी निरंजन हीरानंदानी, जिंदल ग्रुप के चेयरमैन और एमडी सज्जन जिंदल, लुलु ग्रुप के एमडी युसूफ  अली व वीपी एयर लिक्विड के मैथ्यू आइरीज सहित तमाम उद्योगपतियों का आना तय माना जा रहा है।

समारोह की तैयारियों पर शासन स्तर से लगातार नजर रखी जा रही है। मुख्यमंत्री योगी व मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्रा स्वयं तैयारियों को लेकर लगातार अपडेट ले रहे हैं। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त अरविंद कुमार समारोह से जुड़े प्रत्येक पहलुओं की लगातार मॉनीटरिंग कर रहे हैं। शासन ने मेहमानों की यादगार मेहमानवाजी को लेकर जबर्दस्त तैयारी की है। शहर को खूबसूरती से सजाया-संवारा गया है और हर प्रतिष्ठित आगंतुक के साथ लाइजन अफसर नामित किए गए हैं।



Source link