स्टेडियम में कुत्ता घुमाने का मामला: आईएएस खिरवार का लद्दाख और पत्नी रिंकू दुग्गा का अरुणाचल ट्रांसफर, गृह मंत्रालय की कार्रवाई

By | May 26, 2022


सार

आईएएस खिरवार का दिल्ली से लद्दाख और रिंकू दुग्गा का अरुणाचल प्रदेश तबादला किया गया है। दोनों पर त्यागराज स्टेडियम में कुत्ता घुमाने का आरोप है।  

ख़बर सुनें

आईएएस संजीव खिरवार और उनकी पत्नी रिंकू दुग्गा द्वारा दिल्ली त्यागराज स्टेडियम में सुविधाओं के दुरुपयोग के संबंध में एक समाचार रिपोर्ट के कुछ घंटों बाद गृह मंत्रालय ने दोनों पर कार्रवाई की है। मंत्रालय ने एजीएमयूटी कैडर के दोनों आईएएस अधिकारियों संजीव खिरवार और रिंकू दुग्गा का तबादला कर दिया है। खिरवार का दिल्ली से लद्दाख और दुग्गा को अरुणाचल प्रदेश तबादला किया गया है।  

जानिए पूरा मामला 

दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में एथलीट्स और कोच बीते कुछ समय से परेशान थे क्योंकि उन्हें यह आदेश दिया जा रहा था कि वह स्टेडियम खाली कर दें ताकि आईएएस अधिकारी के कुत्ते वहां टहल सकें। यही खबर जब गुरुवार को मीडिया में सामने आई तो हर ओर किरकिरी होने लगी। यह खबर सामने आने के बाद दिल्ली सरकार भी सख्त हो गई। दिल्ली सरकार ने आदेश जारी कर कहा कि अब दिल्ली के हर स्टेडियम रात 10 बजे तक प्रैक्टिस के लिए खुले रहेंगे। लेकिन अब गृह मंत्रालय ने सख्त कदम उठाते हुए दोनों अधिकारियों का तबादला कर दिया है। 

खिरवार बोले, स्टेडियम बंद होने के बाद वहां जाता हूं 
इस खबर के सामने आने के बाद आईएएस खिरवार ने कहा था कि मैं किसी एथलीट को स्टेडियम छोड़ने के लिए कभी नहीं कहूंगा। मैं स्टेडियम बंद होने के बाद जाता हूं… हम उसे (कुत्ते) ट्रैक पर नहीं छोड़ते हैं। जब कोई आसपास नहीं होता है तो हम उसे छोड़ देते हैं लेकिन किसी एथलीट की कीमत पर कभी नहीं। अगर इसमें कुछ आपत्तिजनक है तो मैं इसे रोक दूंगा। 

इस मामले के सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि, यह बहुत शर्मनाक है कि खिलाड़ियों को स्टेडियम इसलिए छोड़ना पड़ रहा है क्योंकि एक आईएएस अधिकारी को अपने कुत्ते को टहलाना है। अधिकारी को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। यह अथॉरिटी का दुरुपयोग है।

जानकारी के अनुसार त्यागराज स्टेडियम में कोचिंग देने वाले एक कोच ने दावा किया था कि कुछ हफ्तों पहले तक वो रात में करीब 8.30 बजे तक ट्रेनिंग करते थे लेकिन कुछ समय से उन्हें शाम सात बजे ही स्टेडियम खाली करने को कहा जा रहा है। इसके पीछे उन्होंने कारण बताया कि मेरे साथ ही अन्य खिलाड़ियों और कोचों को भी स्टेडियम इसलिए खाली करने को कहा जाता है ताकि एक आईएएस अधिकारी अपने कुत्त संग वहां टहल सकें। इससे हमारे व खिलाड़ियों के अभ्यास में व्यवधान पैदा होता है।

 

विस्तार

आईएएस संजीव खिरवार और उनकी पत्नी रिंकू दुग्गा द्वारा दिल्ली त्यागराज स्टेडियम में सुविधाओं के दुरुपयोग के संबंध में एक समाचार रिपोर्ट के कुछ घंटों बाद गृह मंत्रालय ने दोनों पर कार्रवाई की है। मंत्रालय ने एजीएमयूटी कैडर के दोनों आईएएस अधिकारियों संजीव खिरवार और रिंकू दुग्गा का तबादला कर दिया है। खिरवार का दिल्ली से लद्दाख और दुग्गा को अरुणाचल प्रदेश तबादला किया गया है।  

जानिए पूरा मामला 

दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में एथलीट्स और कोच बीते कुछ समय से परेशान थे क्योंकि उन्हें यह आदेश दिया जा रहा था कि वह स्टेडियम खाली कर दें ताकि आईएएस अधिकारी के कुत्ते वहां टहल सकें। यही खबर जब गुरुवार को मीडिया में सामने आई तो हर ओर किरकिरी होने लगी। यह खबर सामने आने के बाद दिल्ली सरकार भी सख्त हो गई। दिल्ली सरकार ने आदेश जारी कर कहा कि अब दिल्ली के हर स्टेडियम रात 10 बजे तक प्रैक्टिस के लिए खुले रहेंगे। लेकिन अब गृह मंत्रालय ने सख्त कदम उठाते हुए दोनों अधिकारियों का तबादला कर दिया है। 

खिरवार बोले, स्टेडियम बंद होने के बाद वहां जाता हूं 

इस खबर के सामने आने के बाद आईएएस खिरवार ने कहा था कि मैं किसी एथलीट को स्टेडियम छोड़ने के लिए कभी नहीं कहूंगा। मैं स्टेडियम बंद होने के बाद जाता हूं… हम उसे (कुत्ते) ट्रैक पर नहीं छोड़ते हैं। जब कोई आसपास नहीं होता है तो हम उसे छोड़ देते हैं लेकिन किसी एथलीट की कीमत पर कभी नहीं। अगर इसमें कुछ आपत्तिजनक है तो मैं इसे रोक दूंगा। 

इस मामले के सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि, यह बहुत शर्मनाक है कि खिलाड़ियों को स्टेडियम इसलिए छोड़ना पड़ रहा है क्योंकि एक आईएएस अधिकारी को अपने कुत्ते को टहलाना है। अधिकारी को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। यह अथॉरिटी का दुरुपयोग है।

जानकारी के अनुसार त्यागराज स्टेडियम में कोचिंग देने वाले एक कोच ने दावा किया था कि कुछ हफ्तों पहले तक वो रात में करीब 8.30 बजे तक ट्रेनिंग करते थे लेकिन कुछ समय से उन्हें शाम सात बजे ही स्टेडियम खाली करने को कहा जा रहा है। इसके पीछे उन्होंने कारण बताया कि मेरे साथ ही अन्य खिलाड़ियों और कोचों को भी स्टेडियम इसलिए खाली करने को कहा जाता है ताकि एक आईएएस अधिकारी अपने कुत्त संग वहां टहल सकें। इससे हमारे व खिलाड़ियों के अभ्यास में व्यवधान पैदा होता है।


 



Source link