बीएचयू में पोस्टर वॉर: दीवारों पर लिखी गई आपत्तिजनक टिप्पणी, चीफ प्रॉक्टर बोले- विश्वविद्यालय को बदनाम करने की साजिश

By | April 28, 2022


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी
Published by: उत्पल कांत
Updated Thu, 28 Apr 2022 11:50 AM IST

सार

बीएचयू परिसर में जगह-जगह दीवारों पर कश्मीर को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी लिखी गई है।

ख़बर सुनें

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बुधवार रात इफ्तार पार्टी के आयोजन पर बखेड़ा होने के बाद गुरुवार सुबह विवादास्पद पोस्टर से परिसर का माहौल गरमा गया। बीएचयू में एकबार फिर से पोस्टर वॉर शुरू हो गया है। एक तरफ जहां पूर्व में लापता छात्र शिव की मौत मामले में न्याय के लिए परिसर में जगह-जगह पोस्टर चस्पा किए गए हैं।

वहीं दूसरी तरफ परिसर में जगह-जगह दीवारों पर कश्मीर और एक जाति विशेष को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी लिखी गई है। इन टिप्पणियों के नीचे भगत सिंह छात्र मोर्चा का नाम भी लिखा गया है। हालांकि इस मामले से भगत सिंह छात्र मोर्चा ने किनारा किया है। बयान जारी कर कहा है कि यह संगठन को बदनाम करने की साजिश है। इससे भगत सिंह छात्र मोर्चा का कोई लेना देना नहीं है।

बीएचयू में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल

बीएचयू चीफ प्रॉक्टर प्रो. बीसी कापड़ी ने कहा कि इस तरह का कृत्य विश्वविद्यालय को बदनाम करने की साजिश है। ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। विश्वविद्यालय प्रशासन  इस मामले की जांच में जुट गया है। 

विस्तार

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बुधवार रात इफ्तार पार्टी के आयोजन पर बखेड़ा होने के बाद गुरुवार सुबह विवादास्पद पोस्टर से परिसर का माहौल गरमा गया। बीएचयू में एकबार फिर से पोस्टर वॉर शुरू हो गया है। एक तरफ जहां पूर्व में लापता छात्र शिव की मौत मामले में न्याय के लिए परिसर में जगह-जगह पोस्टर चस्पा किए गए हैं।

वहीं दूसरी तरफ परिसर में जगह-जगह दीवारों पर कश्मीर और एक जाति विशेष को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी लिखी गई है। इन टिप्पणियों के नीचे भगत सिंह छात्र मोर्चा का नाम भी लिखा गया है। हालांकि इस मामले से भगत सिंह छात्र मोर्चा ने किनारा किया है। बयान जारी कर कहा है कि यह संगठन को बदनाम करने की साजिश है। इससे भगत सिंह छात्र मोर्चा का कोई लेना देना नहीं है।

बीएचयू में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल

कहा कि इस मामले की शिकायत विश्वविद्यालय प्रशासन और पुलिस से की है। मामला संज्ञान में आने के बाद प्रॉक्टोरियल बोर्ड के कर्मियों ने दीवारों से आपत्तिजनक टिप्पणियों को हटाना शुरू कर दिया है। परिसर में जगह-जगह प्रॉक्टोरियल बोर्ड के कर्मियों की तैनाती होने के बाद भी कुछ लोगों द्वारा वॉल पेंटिंग और पोस्टर चस्पा करने से एक बार फिर से बीएचयू में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो गया है।

पढ़ेंः बीएचयू में इफ्तार पार्टी पर हंगामा: छात्रों ने वीसी आवास के बाहर प्रदर्शन कर जताई नाराजगी, फूंका कुलपति का पुतला



Source link