पाक में सियासी संकट Live: सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के बाहर हंगामा, इमरान के करीबी नेता पत्रकारों पर भड़के

By | April 6, 2022


12:27 PM, 06-Apr-2022

पीटीआई नेता की पत्रकारों से तीखी बहस

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान कोर्ट के बाहर जबरदस्त हंगामा हुआ। दरअसल, इमरान खान के करीबी और मंत्री रहे फवाद चौधरी पत्रकारों के सवाल पर बिफर गए। इसके बाद उनकी पत्रकारों के साथ तीखी बहस हुई। 

11:54 AM, 06-Apr-2022

सुप्रीम कोर्ट आज सुना सकता है फैसला

सुप्रीम कोर्ट ने अभी यह नहीं बताया है कि, वह अपना फैसला कब सुनाएगा। लेकिन कयास लगाए जा रहे हैं कि, कोर्ट आज ही अपना फैसला सुना सकता है। वह संसद के पुनर्गठन या फिर नए चुनाव कराने का भी आदेश दे सकता है। इसके अलावा वह इमरान खान को भी सत्ता में आने से रोक सकता है। 

11:52 AM, 06-Apr-2022

सिर्फ संसद की कार्यवाही पर ही अपना फैसला सुनाएगा कोर्ट 

पाकिस्तान में सुप्रीम कोर्ट की कार्रवाई आज फिर शुरू हो गई है। इस दौरान कोर्ट ने कहा कि, वह अपना फैसला सिर्फ इस पर सुनाएगी कि, संसद में डिप्टी स्पीकर द्वारा अविश्वास प्रस्ताव को खारिज किए जाने का फैसला संविधान के खिलाफ था या नहीं। हालांकि, यह संसद के विघटन को प्रभावित करेगा। 

09:06 AM, 06-Apr-2022

गुलजार अहमद ने पाक का कार्यवाहक पीएम बनने की जताई इच्छा

पाकिस्तान के पूर्व मुख्य न्यायाधीश गुलजार अहमद ने कार्यवाहक प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जताई है। समा टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, गुलजार अहमद ने कहा कि, उन्हें अभी तक आधिकारिक रूप से कार्यवाहक पीएम बनने का प्रस्ताव नहीं मिला है। अगर ऐसा कोई प्रस्ताव उनके सामने पेश किया जाता है तो वह इस पर विचार करेंगे। 

08:24 AM, 06-Apr-2022

पाकिस्तान में संसद भंग मामले में आज फिर सुनवाई

पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट में इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज मामले में आज फिर सुनवाई होनी है। मंगलवार को कोर्ट ने इस सुनवाई को बुधवार के लिए टाल दिया था। दरअसल, नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम सूरी ने अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर संसद को भंग कर दिया था। विपक्ष उनके इस कदम को संविधान का घोर उल्लंघन बता रहा है। 

08:15 AM, 06-Apr-2022

पाक में सियासी संकट Live: सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के बाहर हंगामा, इमरान के करीबी नेता पत्रकारों पर भड़के

श्रीलंका भीषण आर्थिक संकट को झेल रहा है। लोग सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बढ़ते विरोधों के चलते श्रीलंका के राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे ने एक अप्रैल को आपातकाल लगा दिया था। अब गोतबाया ने आपातकालीन नियम अध्यादेश को मंगलवार देर रात रद्द कर दिया। 



Source link