पाकिस्तान: नकदी संकट से जूझ रहे देश की मदद के लिए आगे आया सऊदी अरब, देगा आठ अरब डॉलर का पैकेज

By | May 1, 2022


वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, इस्लामाबाद
Published by: गौरव पाण्डेय
Updated Sun, 01 May 2022 04:57 PM IST

सार

विदेशी मुद्रा की कमी के चलते गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहे पाकिस्तान को सऊदी अरब ने मदद के रूप में बड़ा आर्थिक पैकेज देने का एलान किया है।

ख़बर सुनें

नकदी की कमी की समस्या का सामना कर रहे पाकिस्तान की मदद के लिए सऊदी अरब ने हाथ बढ़ाया है। रविवार को सामने आई एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब पाकिस्तान को लगभग आठ अरब अमेरिकी डॉलर का राहत पैकेज देने के लिए सहमत हो गया है। यह पैकेज पाकिस्तान को अपने घटते विदेशी मुद्रा भंडार और संकटग्रस्त अर्थव्यवस्था को उबारने में सहायता मिलने की उम्मीद है। 

पाकिस्तान इस समय मुद्रास्फीति की ऊंची दर, घटते विदेशी मुद्रा भंडार, गंभीर होता चालू खाते का घाटान और अपनी मुद्रा के कमजोर होने की वजह से गंभीर वित्तीय चुनौतियों से घिरा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सऊदी अरब की यात्रा के दौरान यह समझौता हुआ। इसमें तेल के लिए आर्थिक मदद, जमा या सुकूक के माध्यम से अतिरिक्त राशि और 4.2 अरब डॉलर की सुविधाओं को आगे बढ़ाने का प्रावधान किया गया है।

एक अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान ने तेल के लिए मिलने वाली आर्थिक मदद को 1.2 अरब डॉलर से बढ़ाकर 2.4 अरब डॉलर करने का प्रस्ताव रखा था, जिसे सऊदी अरब ने स्वीकार कर लिया। हालांकि, अभी इसके तकनीकी पक्षों पर काम किया जा रहा है और इस समझौते को मूर्त रूप लेने में अभी कुछ सप्ताह का समय लगेगा। पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल इस समझौते के लिए अभी सऊदी अरब में ही हैं।

विस्तार

नकदी की कमी की समस्या का सामना कर रहे पाकिस्तान की मदद के लिए सऊदी अरब ने हाथ बढ़ाया है। रविवार को सामने आई एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब पाकिस्तान को लगभग आठ अरब अमेरिकी डॉलर का राहत पैकेज देने के लिए सहमत हो गया है। यह पैकेज पाकिस्तान को अपने घटते विदेशी मुद्रा भंडार और संकटग्रस्त अर्थव्यवस्था को उबारने में सहायता मिलने की उम्मीद है। 

पाकिस्तान इस समय मुद्रास्फीति की ऊंची दर, घटते विदेशी मुद्रा भंडार, गंभीर होता चालू खाते का घाटान और अपनी मुद्रा के कमजोर होने की वजह से गंभीर वित्तीय चुनौतियों से घिरा हुआ है। रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सऊदी अरब की यात्रा के दौरान यह समझौता हुआ। इसमें तेल के लिए आर्थिक मदद, जमा या सुकूक के माध्यम से अतिरिक्त राशि और 4.2 अरब डॉलर की सुविधाओं को आगे बढ़ाने का प्रावधान किया गया है।

एक अधिकारी के अनुसार पाकिस्तान ने तेल के लिए मिलने वाली आर्थिक मदद को 1.2 अरब डॉलर से बढ़ाकर 2.4 अरब डॉलर करने का प्रस्ताव रखा था, जिसे सऊदी अरब ने स्वीकार कर लिया। हालांकि, अभी इसके तकनीकी पक्षों पर काम किया जा रहा है और इस समझौते को मूर्त रूप लेने में अभी कुछ सप्ताह का समय लगेगा। पाकिस्तान के वित्त मंत्री मिफ्ताह इस्माइल इस समझौते के लिए अभी सऊदी अरब में ही हैं।



Source link