डीयू एडमिशन: आज होगी दाखिला नीति की घोषणा, गैप ईयर वाले छात्र भी दे सकते हैं दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा

By | April 5, 2022


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, दिल्ली
Published by: Vikas Kumar
Updated Tue, 05 Apr 2022 02:41 AM IST

सार

डीयू ने भी सीयूईटी व दाखिला नीति को लेकर तैयारी कर ली है। मंगलवार को डीयू प्रशासन की ओर से दाखिला नीति की घोषणा की जाएगी। दाखिला नीति को समझने के लिए छात्रों को पर्याप्त समय दिया जा रहा है, जिससे कि उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत ना हो।

ख़बर सुनें

बीते साल बारहवीं पास कर चुके छात्रों को दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिले को लेकर बड़ी राहत मिलने जा रही है। ऐसे छात्र जिन्होंने बीते साल बारहवीं पास की लेकिन दाखिला मिलने से वंचित रहे, वह सेंट्रल यूनिवर्सिटी एंट्रेस टेस्ट (सीयूईटी) में हिस्सा ले सकेंगे। डीयू ने ऐसे विद्यार्थियों को भी बीते साल की तरह दाखिले में हिस्सा देने का अवसर दिया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बीते सालों के छात्रों के प्रवेश परीक्षा देने का फैसला केंद्रीय विश्वविद्यालयों पर छोड़ा था। 

डीयू में अब तक गैप ईयर वालों को भी अगले साल दाखिला लेने का अवसर मिलता रहा है। डीयू में इस साल दाखिले प्रवेश परीक्षा से होने हैं लिहाजा छात्रों में यह असमंजस है कि गैप ईयर वाले प्रवेश परीक्षा में बैठ सकेंगे या नहीं। दिल्ली विश्वविद्यालय के डीन ऑफ स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. पंकज अरोड़ा ने कहा कि पहले भी यहां दाखिले के लिए गैप ईयर की बाध्यता नहीं थी। इस साल भी इसे जारी रखने का फैसला किया है। इस तरह से प्रवेश परीक्षा के लिए गैप ईयर वाले भी आवेदन कर सकेंगे। जिन छात्रों के बीते साल बारहवीं में कम अंक थे और हाई कट ऑफ के कारण वह दाखिला नहीं ले सके, वे इस बार प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। मालूम हो कि सीयूईटी में आवेदन के लिए आवेदन प्रक्रिया छ: अप्रैल से शुरु होनी है। इसकी घोषणा पहले ही की जा चुकी है।

दाखिला नीति की आज की जाएगी घोषणा
डीयू ने भी सीयूईटी व दाखिला नीति को लेकर तैयारी कर ली है। मंगलवार को डीयू प्रशासन की ओर से दाखिला नीति की घोषणा की जाएगी। दाखिला नीति को समझने के लिए छात्रों को पर्याप्त समय दिया जा रहा है, जिससे कि उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत ना हो। डीयू में इस साल स्नातक स्तर के करीब 74 हजार सीटों पर इस साल दाखिले होने हैं। इस बार दाखिला प्रवेश परीक्षा के स्कोर के आधार पर होगा। 

विस्तार

बीते साल बारहवीं पास कर चुके छात्रों को दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिले को लेकर बड़ी राहत मिलने जा रही है। ऐसे छात्र जिन्होंने बीते साल बारहवीं पास की लेकिन दाखिला मिलने से वंचित रहे, वह सेंट्रल यूनिवर्सिटी एंट्रेस टेस्ट (सीयूईटी) में हिस्सा ले सकेंगे। डीयू ने ऐसे विद्यार्थियों को भी बीते साल की तरह दाखिले में हिस्सा देने का अवसर दिया है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने बीते सालों के छात्रों के प्रवेश परीक्षा देने का फैसला केंद्रीय विश्वविद्यालयों पर छोड़ा था। 

डीयू में अब तक गैप ईयर वालों को भी अगले साल दाखिला लेने का अवसर मिलता रहा है। डीयू में इस साल दाखिले प्रवेश परीक्षा से होने हैं लिहाजा छात्रों में यह असमंजस है कि गैप ईयर वाले प्रवेश परीक्षा में बैठ सकेंगे या नहीं। दिल्ली विश्वविद्यालय के डीन ऑफ स्टूडेंट वेलफेयर प्रो. पंकज अरोड़ा ने कहा कि पहले भी यहां दाखिले के लिए गैप ईयर की बाध्यता नहीं थी। इस साल भी इसे जारी रखने का फैसला किया है। इस तरह से प्रवेश परीक्षा के लिए गैप ईयर वाले भी आवेदन कर सकेंगे। जिन छात्रों के बीते साल बारहवीं में कम अंक थे और हाई कट ऑफ के कारण वह दाखिला नहीं ले सके, वे इस बार प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। मालूम हो कि सीयूईटी में आवेदन के लिए आवेदन प्रक्रिया छ: अप्रैल से शुरु होनी है। इसकी घोषणा पहले ही की जा चुकी है।

दाखिला नीति की आज की जाएगी घोषणा

डीयू ने भी सीयूईटी व दाखिला नीति को लेकर तैयारी कर ली है। मंगलवार को डीयू प्रशासन की ओर से दाखिला नीति की घोषणा की जाएगी। दाखिला नीति को समझने के लिए छात्रों को पर्याप्त समय दिया जा रहा है, जिससे कि उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत ना हो। डीयू में इस साल स्नातक स्तर के करीब 74 हजार सीटों पर इस साल दाखिले होने हैं। इस बार दाखिला प्रवेश परीक्षा के स्कोर के आधार पर होगा। 



Source link