गोरखपुर कांड में आतंकी तार?: जाकिर नाइक को फॉलो करता है मुर्तजा, एटीएस की पूछताछ में कई खुलासे

By | April 5, 2022


गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात सिपाहियों (पीएसी के जवान) पर जानलेवा हमला करने के आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी के लैपटॉप और मोबाइल फोन की जांच में जांच एजेंसियों के हाथ कई अहम सुराग लगे हैं। बताया जा रहा है कि अब्बासी प्रतिबंधित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक को फॉलो करता है। यूट्यूब पर जाकिर को सुनता था। एसटीएफ, एटीएस और पुलिस की टीम ने कुछ वीडियो जब्त भी किए हैं। पेन ड्राइव में भी भड़काऊ वीडियो मिले हैं। मोबाइल फोन में जितने भी नंबर फीड हैं, उनकी जांच की जा रही है। मोबाइल में फीड ज्यादातर नंबर मुंबई के हैं। जानकारी के अनुसार, हमले के आरोपी अहमद मुर्तजा अब्बासी से पूछताछ के बाद पुलिस की पांच टीमें उसके हर बयान की गहनता से जांच कर रही हैं। पुलिस के साथ ही एटीएस व एसटीएफ की टीमें हमले से जुड़ी एक-एक बिंदु के तार खंगाल रही हैं। एटीएस की टीम ने गोरखनाथ मंदिर जाकर अब्बासी के आने और पकड़े जाने की जगह की जांच की है। इसका नक्शा बनाया गया है।

एटीएस और पुलिस की अब तक की जांच से एक बात साफ हो चुकी है कि हमलावर सिरफिरा नहीं था। वह साजिश के तहत बड़ी वारदात को अंजाम देना चाहता था। किसके कहने और किस इरादे से गोरखनाथ मंदिर परिसर में प्रवेश करना चाहता था, इस पर जांच एजेंसियां खुलकर नहीं बोल रही हैं। 

 

अरबी भाषा में लिखी किताब मिली

जांच के दौरान अहमद मुर्तजा अब्बासी के कमरे से अरबी भाषा में लिखी एक किताब मिली है। किताब, कैसे और कहां से खरीदी गई, इसकी जांच की जा रही है। 

एटीएस के रडार पर था मुर्तजा

बताया जा रहा है कि मुर्तजा एटीएस के रडार पर पहले से था। गत शनिवार को लखनऊ की नंबर प्लेट लगी एक बाइक से दो लोग अहमद मुर्तजा अब्बासी से मिलने उसके घर आए थे। करीब एक घंटे तक मुलाकात हुई थी। इसके बाद ही मुर्तजा घर से लापता हो गया था। 

नेपाल भी गया था मुर्तजा

पुलिस की जांच में पता चला है कि घर से निकलने के बाद अहमद मुर्तजा अब्बासी नेपाल गया था। नेपाल से लौटने के दौरान ही महराजगंज से दो बांका (धारदार हथियार) खरीदा। लिहाजा, जांच एजेंसियों की टीम महराजगंज जाकर छानबीन कर रही हैं। इस दौरान वह किस-किस के संपर्क में रहा, इसकी जांच जारी है। 

 



Source link