गर्मी का सितम: दो मई तक रहेगा जारी, दिल्ली यूपी समेत छह राज्यों के लिए ऑरेंज अलर्ट

By | May 1, 2022


सार

भीषण गर्मी और लू से दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत झुलस रहा है। आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने कहा कि 2 से 4 मई तक राजस्थान, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। इससे तापमान 36 और 39 डिग्री सेल्सियस तक नीचे आने की संभावना है।

ख़बर सुनें

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में दो मई तक और पूर्वी भारत में 30 अप्रैल तक लू चलेगी। जबकि, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश में शनिवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, राजस्थान, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के लिए राहत की खबर है। यहां दो से चार मई के बीच बारिश होने की संभावना है।

अप्रैल में गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ दिया। शुक्रवार को 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो कि 72 साल में दूसरी बार सर्वाधिक रहा था। अगले कुछ दिनों तक गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद दिखाई नहीं दे रही है। मौसम विभाग के मुताबिक आज पश्चिम मध्य प्रदेश, विदर्भ, जम्मू, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल में गंगा के पश्चिमी तटीय इलाकों, तेलंगाना और आंतरिक ओडिशा में लू चलने की संभावना है।

भीषण गर्मी और लू से दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत झुलस रहा है। आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने कहा कि 2 से 4 मई तक राजस्थान, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। इससे तापमान 36 और 39 डिग्री सेल्सियस तक नीचे आने की संभावना है। मौसम विभाग की मानें तो, चार मई को अंडमान सागर में एक चक्रवात विकसित होगा। जिसके बाद पांच मई को निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा और इसके प्रभाव से तापमान में गिरावट होने की संभावना है।

19 सालों में एक लाख 66 हजार लोगों की हीट वेव ने ली जान
हीटवेव ने 1998 और 2017 के बीच 166,000 से अधिक लोगों की जान ले ली। एक अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में हाल के दशकों में अधिक तीव्र और लगातार लू या हीटवेव से मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। 1970 से 2012 के बीच यूरोप में जलवायु संबंधी आपदाओं के कारण होने वाली सभी मौतों का 85 फीसदी हिस्सा था। दुनिया भर में हीटवेव और सूखे से मृत्यु दर बढ़ रही है और लोगों को नुकसान हो रहा है।

उदाहरण के तौर पर देखे तो 2003 में यूरोपीय हीटवेव से संबंधित मौतों की संख्या 70,000 से अधिक तक पहुंच गई थी, लेकिन हाल ही में हीटवेव के कारण मृत्यु दर काफी बढ़ गई है।

दिल्ली में सोमवार को लू से राहत की उम्मीद
दिल्ली में पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण सोमवार से लू के कुछ हद तक थमने की उम्मीद है। दिल्ली में शनिवार को अधिकतम तापमान सामान्य से पांच अधिक 43.5 डिग्री व न्यूनतम सामान्य से दो अधिक 25.7 डिग्री सेल्सियस रहा।

जानें क्या होता है अलर्ट

  • ग्रीन अलर्ट- कोई कार्रवाई की आवश्यकता नहीं।
  • यलो अलर्ट- स्थिति पर नजर रखें।
  • ऑरेंज अलर्ट- स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें।
  • रेड अलर्ट- स्थिति से निपटने लिए कदम उठाएं।

विश्व मौसम संगठन का दावा : भारत पाकिस्तान की गर्मी के लिए जलवायु परिवर्तन को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी। मौसम पर निगरानी करने वाली संयुक्त राष्ट्र की संस्था विश्व मौसम संगठन (डब्ल्यूएमओ) ने दावा किया है कि भारत और पाकिस्तान में पड़ रही भीषण गर्मी के लिए जलवायु परिवर्तन को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी। डब्ल्यूएमओ के मुताबिक लू चलना स्वाभाविक है और इस बार पिछले  सालों की तुलना में यह समय से थोड़ा पहले शुरू हो गई। यह सब बदलती हुई जलवायु के अनुरूप है।

विस्तार

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के अनुसार उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में दो मई तक और पूर्वी भारत में 30 अप्रैल तक लू चलेगी। जबकि, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश में शनिवार के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, राजस्थान, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के लिए राहत की खबर है। यहां दो से चार मई के बीच बारिश होने की संभावना है।

अप्रैल में गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ दिया। शुक्रवार को 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो कि 72 साल में दूसरी बार सर्वाधिक रहा था। अगले कुछ दिनों तक गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद दिखाई नहीं दे रही है। मौसम विभाग के मुताबिक आज पश्चिम मध्य प्रदेश, विदर्भ, जम्मू, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल में गंगा के पश्चिमी तटीय इलाकों, तेलंगाना और आंतरिक ओडिशा में लू चलने की संभावना है।

भीषण गर्मी और लू से दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत झुलस रहा है। आईएमडी के वरिष्ठ वैज्ञानिक आर के जेनामणि ने कहा कि 2 से 4 मई तक राजस्थान, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा में बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। इससे तापमान 36 और 39 डिग्री सेल्सियस तक नीचे आने की संभावना है। मौसम विभाग की मानें तो, चार मई को अंडमान सागर में एक चक्रवात विकसित होगा। जिसके बाद पांच मई को निम्न दबाव का क्षेत्र बनेगा और इसके प्रभाव से तापमान में गिरावट होने की संभावना है।

19 सालों में एक लाख 66 हजार लोगों की हीट वेव ने ली जान

हीटवेव ने 1998 और 2017 के बीच 166,000 से अधिक लोगों की जान ले ली। एक अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में हाल के दशकों में अधिक तीव्र और लगातार लू या हीटवेव से मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। 1970 से 2012 के बीच यूरोप में जलवायु संबंधी आपदाओं के कारण होने वाली सभी मौतों का 85 फीसदी हिस्सा था। दुनिया भर में हीटवेव और सूखे से मृत्यु दर बढ़ रही है और लोगों को नुकसान हो रहा है।

उदाहरण के तौर पर देखे तो 2003 में यूरोपीय हीटवेव से संबंधित मौतों की संख्या 70,000 से अधिक तक पहुंच गई थी, लेकिन हाल ही में हीटवेव के कारण मृत्यु दर काफी बढ़ गई है।

दिल्ली में सोमवार को लू से राहत की उम्मीद

दिल्ली में पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण सोमवार से लू के कुछ हद तक थमने की उम्मीद है। दिल्ली में शनिवार को अधिकतम तापमान सामान्य से पांच अधिक 43.5 डिग्री व न्यूनतम सामान्य से दो अधिक 25.7 डिग्री सेल्सियस रहा।

जानें क्या होता है अलर्ट

  • ग्रीन अलर्ट- कोई कार्रवाई की आवश्यकता नहीं।
  • यलो अलर्ट- स्थिति पर नजर रखें।
  • ऑरेंज अलर्ट- स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहें।
  • रेड अलर्ट- स्थिति से निपटने लिए कदम उठाएं।


विश्व मौसम संगठन का दावा : भारत पाकिस्तान की गर्मी के लिए जलवायु परिवर्तन को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी। मौसम पर निगरानी करने वाली संयुक्त राष्ट्र की संस्था विश्व मौसम संगठन (डब्ल्यूएमओ) ने दावा किया है कि भारत और पाकिस्तान में पड़ रही भीषण गर्मी के लिए जलवायु परिवर्तन को जिम्मेदार ठहराना जल्दबाजी होगी। डब्ल्यूएमओ के मुताबिक लू चलना स्वाभाविक है और इस बार पिछले  सालों की तुलना में यह समय से थोड़ा पहले शुरू हो गई। यह सब बदलती हुई जलवायु के अनुरूप है।



Source link