अंबाती रायुडू 20 साल से क्रिकेट खेल रहे, 17 साल से विवादों से नाता, साथी खिलाड़ी पर स्टंप से कर चुके हैं हमला

By | May 14, 2022


नई दिल्ली. अंबाती रायुडू (Ambati Rayudu) ने शनिवार को संन्यास लेने की बात कहकर सनसनी मचा दी. हालांकि कुछ घंटों बाद ही उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखे अपने इस पोस्ट को डिलीट कर दिया. इसके बाद चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) की ओर से कहा गया कि वे रिटायर नहीं हो रहे हैं. वे अपने खराब प्रदर्शन से निराश थे, इस कारण ऐसा लिख दिया. आईपीएल 2022 (IPL 2022) की बात करें तो सीएसके का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा है. डिफेंडिंग चैंपियन टीम शुरुआती 12 में से 8 मैच हारकर प्लेऑफ की रेस से बाहर हो गई है. रायुडू का प्रदर्शन ओवरऑल आईपीएल में अच्छा रहा है. वे मुंबई इंडियंस और सीएसके दोनों की ओर से ट्रॉफी जीत चुके हैं.

अंबाती रायुडु तुनक-मिजाज व्यवहार के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने 20 साल पहले 2002 में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया था. विवादों ने उनका नाता काफी पुराना है. वे खिलाड़ियों से लेकर बीसीसीआई तक से पंगा ले चुके हैं. पहली बार वे 17 साल पहले विवादों में आए थे, तब उन्होंने हैदराबाद के अपने साथी खिलाड़ी अर्जुन यादव पर विवाद के बाद स्टंप से हमला कर दिया था. वे 2004 में अंडर-19 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के कप्तान थे और टीम को सेमीफाइनल तक में पहुंचाया था. कोड ऑफ कंडक्ट के कारण आईसीसी ने उन पर एक मैच का बैन लगा दिया था. इस कारण वे सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेल सके थे.

बैन के बाद भी लीग में उतरे

2007 में इंडियन क्रिकेट लीग शुरू हुई. बीसीसीआई की ओर से इसमें खिलाड़ियों के उतरने पर रोक लगा दी गई. ऐसा नहीं करने पर बैन तक की बात कही गई. लेकिन 36 साल के अंबाती रायुडू कहां मानने वाले थे. वे 2007 और 2008 में हैदराबाद हीरोज का हिस्सा रहे. 2009 में बोर्ड ने रायुडू सहित 79 क्रिकेटरों को घरेलू क्रिकेट में वापसी की अनुमति दे दी. इसके बाद उन्होंने रणजी में अच्छा प्रदर्शन किया. इतना ही नहीं 2010 के आईपीएल से पहले उन्हें मुंबई इंडियंस में शामिल किया गया.

हर्षल पटेल से लेकर हरभजन तक से उलझे

अंबाती रायुडू पर 2012 आईपीएल के दौरान हर्षल पटेल के खिलाफ अभद्र भाषा का उपयोग करने के कारण 100 फीसदी मैच फीस का जुर्माना लगाया गया. 2014 ऑस्ट्रेलिया दौरे पर वे इंडिया ए टीम में शामिल थे. अंपायर के आउट दिए जाने के बाद वे उनसे भिड़ गए थे. फिर आईपीएल 2016 में उन्होंने हरभजन सिंह से मैदान पर ही झगड़ा कर लिया था. 2018 में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में अंपायर से बहस करने के कारण बीसीसीआई ने उन पर 2 मैच बैन लगाया.

2013 में इंटरनेशनल डेब्यू किया

इससे पहले 2017 में वरिष्ठ नागरिक के साथ अभद्रता करने का उनका एक वीडियो खूब वायरल हुआ था. फिर 2019 में वर्ल्ड कप के दौरान नहीं चुने जाने के बाद उन्होंने संन्यास लेने की घोषणा कर दी थी और चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद के साथ उनके मतभेद सामने आए थे. अब एक बार फिर संन्यास की बात ने नए विवाद को जन्म दे दिया है. हालांकि उनकी ओर से अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है. उन्होंने जुलाई 2013 में टीम इंडिया की ओर से इंटरनेशनल डेब्यू किया. वे 55 वनडे में 47 की औसत से 1694 रन बना चुके हैं. 3 शतक और 10 अर्धशतक लगाया है. नाबाद 124 रन की सबसे बड़ी पारी खेली है.

IPL 2022: आरसीबी के लिए अंतिम मुकाबला क्वार्टर फाइनल जैसा, विराट कोहली हारे तो खेल खत्म

इसके अलावा रायुडू ने 6 टी20 इंटरनेशनल में 11 की औसत से 42 रन बनाए हैं. हालांकि उनका ओवरऑल टी20 का रिकॉर्ड बेहतरीन है. वे 268 मैच में 27 की औसत से 5760 रन बना चुके हैं. एक शतक और 30 अर्धशतक लगाया है. स्ट्राइक रेट 125 का है. इसके अलावा वे 97 फर्स्ट क्लास मैच में 46 की औसत से 6151 रन बना चुके हैं. 16 शतक और 34 अर्धशतक जड़ा है. 210 रन की सबसे बड़ी पारी भी खेली है.

Tags: Ambati rayudu, BCCI, Chennai super kings, IPL, IPL 2022, Team india



Source link